Breaking News

9वीं से 12वीं के स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने की अनुमति दी-कोरोना संक्रमण के दौरान विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान नहीं हो

, इंदौर  कोरोना संक्रमण के दौरान विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान नहीं हो इसे देखते हुए शिक्षा विभाग ने 9वीं से 12वीं के स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने की अनुमति दी है लेकिन इसके बाद भी पालको बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार नहीं हैं। सरकारी स्कूलों के 90 प्रतिशत पालक बच्चों को स्कूल नहीं भेज रहे हैं। वहीं प्राइवेट स्कूलों के 83 प्रतिशत पालकों ने यह अनुमति नहीं दी है। 9वीं से 12वीं तक की आंशिक कक्षाओं में धीरे धीरे पालकों की अनुमति से बच्चों के आने की संख्या बढ़ रही है। 15 से 20 प्रतिशत पालकों ने स्कूल में बोर्ड परीक्षा के फॉर्म वह एडमिशन के बाकी दस्तावेज जमा करने के लिए बच्चों को स्कूल जाने की अनुमति दी है। सरकारी स्कूलों में दर्ज 41800 बच्चों में से महज 4236 बच्चों के पालकों ने ही आंशिक कक्षा में भेजने की अनुमति दी है। प्राइवेट स्कूलों में दर्ज 87500 बच्चों में से 15135 बच्चों के पालकों ने ही यह अनुमति प्रदान की है।Indore School Reopening: 90 फीसदी पालक कोरोना संक्रमण के दौरान विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होबच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार नहीं

Check Also

विधायक श्री सिसौदिया को मंत्री बनाने हेतु लिखा पत्र

🔊 इस खबर को सुने burning politicsमन्दसौर संपादक प्रकाश शर्मा 08889179492 खबर विघापन के लिए संपर्क …